BREAKING NEWS
होली त्योहार नजदीक आते ही बाजार में बड़ी रौनक    खाद्य विभाग ने छापेमारी के दौरान दस लाख रुपये कीमत का वनस्पति व सोयाबीन ऑयल किया जब्त    छात्रा से अपशब्द कहना डायरेक्टर को पड़ा भारी, दिया इस्तीफा    सीमेंट से भरे चलते कैंटर में लगी आग, विडियो देखें    महिला का एटीएम कार्ड बदल कर एक लाख 10 हज़ार उड़ाए    भारत ने अटारी बॉर्डर पर लहराया सबसे ऊंचा तिरंगा, 3.50 करोड़ रुपये का हुआ खर्च    विजय जुलूस निकालने पर प्रशासन ने लगाई रोक , डीजे पर रहेगी पाबंदी    होली के मद्देनजर पुलिस सतर्क    20 ग्राम गांजे के साथ एक गिरफ्तार    डिप्रेशन से बचना है तो हफ्ते में दो बार करें योग   

Date:24-03-17 Time:09:49:29

 

 

 

 


Welcome To PariChowkNews Online Web Directory

दो सप्ताह में आएंगी 14 नई सिटी बसें

नोएडा : नोएडा मेट्रो रेल कारपोरेशन (एनएमआरसी) की सिटी बसों में दो सप्ताह में 14 और बसें शामिल हो जाएंगी। इसके बाद पहले चरण में चलने वाली 50 बसों की संख्या पूरी हो जाएगी। पंजीकरण के बाद इन बसों के रूट तय किए जाएंगे। उम्मीद की जा रही है कि नई बसें उन रूटों पर चलेंगी, जहां अभी लोगों को यातायात व्यवस्था नहीं मिल रही है। वहीं इस समय जो बसें चल रही हैं, वह प्रतिदिन सवा लाख रुपये की कमाई कर रही हैं। बसों की संख्या में बढ़ोतरी के साथ यात्रियों की संख्या में इजाफा होना तय माना जा रहा है। इस समय करीब चार हजार यात्री प्रतिदिन सिटी बसों में सफर कर रहे हैं। एनएमआरसी की सिटी बस सेवा को नवंबर 2016 में शुरू किया जाना था, लेकिन बसों के पंजीकरण देर से होने के कारण सिटी बसों का संचालन 14 दिसंबर से किया गया था। पहले चरण में 50 एसी बसें छह रूट पर चलनी थी। शुरुआत के एक सप्ताह में यात्रियों की संख्या कम रही। इसकी वजह, सिटी बसों की संख्या का कम होना और लोगों को इनके बारे में जानकारी न होना था। शुरुआत के एक सप्ताह बाद प्रतिदिन की कमाई महज 35 हजार रुपए ही हुई। इसके बाद यह आंकड़ा बढ़कर 57 हजार पहुंच गया। दिसंबर अंत तक प्रतिदिन करीब 85 हजार रुपए की कमाई हुई। सफर करने वाले अधिकाश यात्री नोएडा से ग्रेटर नोएडा रूट के रहे। लिहाजा एनएमआरसी ने बसों के रूट में बदलाव करते हुए शटल सेवा शुरू की। उधर, सेक्टर-62 से बोटेनिकल गार्डन मेट्रो स्टेशन तक सेवा शुरू की गई। इसके चलते गत सप्ताह प्रतिदिन करीब सवा लाख रुपए की कमाई हुई। कमाई का यह आंकड़ा नई बसों के आने साथ बढ़ेगा। अगले दो सप्ताह में 14 और बसें सिटी बसों के बेड़े में शमिल की जाएंगी। इस समय विभिन्न रूट पर 36 बसें चल रही हैं। ऐसे में पंजीकरण के बाद नई बसों के रूट तय कर दिए जाएंगे, जिससे सिटी बसों के जरिए शहर के अधिक से अधिक क्षेत्र को कवर किया जा सके।