BREAKING NEWS
मतगणना के लिए 25 तक एजेंट को करना होगा आवेदन    पचास फीसद बिसरख ब्लॉक हुए ओडीएफ    वैल्यू इंफ्रा बिल्ड का भूखंड आवंटन निरस्त    500 किस्म के पौधे और फूलों से महकेगा नोएडा स्टेडियम    बकाया बिल वसूलने की तैयारी शुरू    गाज़ियाबाद फ़र्ज़ी एनकाउंटर मामले में चार दोषी पुलिसकर्मियों को उम्रकैद की सजा   

Date:25-02-17 Time:21:41:37

 

 

 

 


Welcome To PariChowkNews Online Web Directory

पांच बैंकों के 2900 खातों की जांच करेगा आयकर विभाग

नोएडा: विभिन्न बैंकों में लगातार मिल रहे फर्जी खातों की जांच कर रही आयकर विभाग की टीम अब पांच बैंकों के सभी करंट अकाउंट की जांच करेगी। पहले चरण में जिन पांच बैंकों को शामिल किया गया है, उसमें एक्सिस, कोटक म¨हद्रा, ओरियंटल बैंक ऑफ कामर्स, यूनियन और सिंडीकेट बैंक शामिल हैं। इन बैंकों में करंट अकाउंट के रूप में खुले 2900 खातों की जांच की जाएगी। इसके लिए आयकर विभाग की अलग-अलग टीमों का गठन किया जा रहा है। एक्सिस बैंक में लगातार फर्जी खाते मिलने और कोटक म¨हद्रा बैंक में फर्जी खातों की बात सामने आने के बाद आयकर विभाग ने जांच के दायरे को बढ़ा दिया है। वहीं ओरियंटल बैंक ऑफ कामर्स और सिंडीकेट बैंक में गलत तरीके से नोट बदलने की सूचना भी आयकर विभाग को दी गई है। इसके अलावा फर्जी खातों की सूचना यूनियन बैंक के बारे में भी आयकर विभाग तक पहुंची है। अब आयकर विभाग इन पांचों बैंकों के सभी करंट अकाउंट खातों की जांच करेगा। शुरुआत में करीब 2900 खातों की जांच होगी। आयकर विभाग की जांच खातों को खोलने में प्रयोग किए गए दस्तावेजों से शुरू होगी। जिन दस्तावेज का प्रयोग किया गया और जिसके नाम से करंट अकाउंट खोले गए हैं, उन दस्तावेजों की जांच के साथ लोगों से भी पूछताछ होगी। इसमें एक बात पूरी तरह से साफ हो जाएगी कि इन बैंकों में कितने खाते फर्जी हैं और कितने सही हैं। इसके बाद खातों के खुलने के बाद से अब तक हुई ट्रांजेक्शन की जांच की जाएगी। करंट अकाउंट से अब तक कितना लेन-देन किया गया है। कितना पैसा खातों में जमा हुआ है और कितना निकाला या दूसरे खातों में ट्रांसफर किया गया है। जिन खातों में एक ही खाते से अधिक पैसा आया है और जिन खातों से एक ही खाते में मोटा पैसा ट्रांसफर किया गया है, उन सभी की जांच होगी। ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि इन पांच बैंकों के अलावा बाकी बैंकों के खाते भी आयकर विभाग की नजर में आएंगे।